पंगवाड़ी

पांगी घाटि अब्बल अब्बल फोटो

अब्बल सोचणे वाणी सोभ कछ अब्बल लगतु। किस कि तेंके सोच खारी भुंती।